SEO in Hindi – latest information 2020 that Works !!

What is SEO in Hindi : SEO क्या है 

What is SEO in Hindi
What is SEO in Hindi

इन्टरनेट पर उपस्थित लाखों वेबसाइट का एक ही सपना है, गूगल के पहले पेज पर रैंक करना, और सिर्फ SEO यानि Search Engine Optimization ही वह प्रक्रिया है जिससे इस उद्देश्य को पूरा किया जा सकता है, अब सवाल ये उठता है की ये SEO Kya Hai, (SEO क्या है)

SEO – Search Engine Optimization:
(सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन) का अर्थ है अपनी वेबसाइट की सर्च इंजन के अनुसार बनाना ताकि वह सर्च इंजन के पहले पेज पर रैंक कर सके |

यानि SEO वह प्रक्रिया है जिसमे हम बिभिन्न सर्च इंजन जैसे गूगल,बिंग,याहू आदि को अपनी वेबसाइट और उसके कंटेंट के बारे में बताते हैं ताकि जब भी कोई व्यक्ति गूगल पर उस बात को यानि उस कीवर्ड (Keyword) को सर्च करे जिसके बारे में हमने वेबसाइट बनाई है तो गूगल हमारी वेबसाइट को पहले पेज पर दिखाए |

इस पोस्ट में हम आपको अपनी मातृ भाषा हिंदी में सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के बारे में विस्तार पूर्वक सम्पूर्ण जानकारी देंगे (SEO-Search Engine Optimization in Hindi) 

SEO क्यों करते हैं

SEO in Hindi - Digital Tohana
Why SEO is Important

जैसा की हमने ऊपर चर्चा की है की SEO करने का एक ही उद्देश्य है, सर्च इंजन में जब कोई यूजर उसके द्वारा चाही गई जानकारी को सर्च करे तो सर्च इंजन उसे सबसे पहले नंबर पर हमारी ही वेबसाइट दिखाए (यदि मांगी गई जानकारी वही है जिसके लिए हमने वेबसाइट बनाई है)

दुनिया में लाखों वेबसाइट हैं, लेकिन इन सभी वेबसाइट के बारे में सभी इन्टरनेट यूजर को नहीं पता, हम लोग सिर्फ दो चार मशहूर वेबसाइट का नाम ही याद रख पाते हैं जैसे फेसबुक, ट्विटर, आदि, इसलिए हमें जब भी किसी जानकारी की जरुरत होती है तो हम सर्च इंजन पर सर्च करते हैं

अब सवाल उठता है की सर्च इंजन को इन लाखों वेबसाइट के बारे में कैसे पता लगता है और वो कैसे जानता है की उसे किस वेबसाइट से जानकारी उठानी है और उसे पहले पेज पर दिखाना है ?

यहीं खेल शुरू होता है SEO यानि Search Engine Optimization का | इन लाखों वेबसाइट में से जिस वेबसाइट ने अपनी वेबसाइट की जानकारी सर्च इंजन के मुताबिक डाली होती है और उन सब में से जो सबसे बेहतरीन जानकारी होती है (SEO के मुताबिक) उसी वेबसाइट के पेज को सर्च इंजन सबसे पहले नम्बर पर दिखाता है,

Search Engine : सर्च इंजन क्या होता है

What is Search Engine – SEO in Hindi


What is Search Engine : सर्च इंजन भी एक वेबसाइट ही है, लेकिन इसका काम है इन्टरनेट यूजर द्वारा मांगी गई जानकारी को पुरे इन्टरनेट पर ढूंडकर उसे दिखाना, इसके लिए सर्च इंजन Bots and Crawler की मदद लेता है,

Indexing in Search Engine:- सर्च इंजन का खुद का एक डेटाबेस होता है जिसमे हर नई बनने वाली वेबसाइट को रजिस्टर करवाना पड़ता है जिसे इंडेक्सिंग (indexing) कहते हैं,आज की तारीख में गूगल के डेटाबेस में करोड़ों वेबसाइट रजिस्टर हैं और इन्हीं करोड़ों वेबसाइट से आगे निकलकर गूगल के पहले पेज पर आना ही SEO का मुख्य उद्देश्य है |

हालाँकि इन्टरनेट पर बहुत से सर्च इंजन हैं लेकिन हमने सिर्फ गूगल सर्च इंजन की ही बात इसलिए की है क्योंकि गूगल को इन्टरनेट की दुनिया में GOD यानि इन्टरनेट का भगवान कहा जाता है, इन्टरनेट पर 99 % यूजर सिर्फ गूगल सर्च इंजन का ही इस्तेमाल करते हैं |

गूगल इन्टरनेट पर करोड़ों वेबसाइट में से जानकारी ढूंढने के लिए बहुत सी Algorithm का इस्तेमाल करता है, जिसे गूगल समय समय पर अपडेट करता रहता है, इन्ही Algorithms की जानकारी SEO में दी जाती है |

इसे भी पढ़ें :- हैकिंग और एथिकल हैकिंग की सम्पूर्ण जानकारी

Types of SEO : SEO के प्रकार

Types of SEO
Types of SEO

SEO मुख्यतः दो प्रकार का होता है
1. On page SEO
2. Off page SEO

On page SEO in Hindi:

On page SEO (इसे “On site SEO” के नाम से भी जाना जाता है), आपकी वेबसाइट के कंटेंट को विभिन्न तरीकों से इस प्रकार बेहतर बनाने की प्रक्रिया है जिससे सर्च इंजन आपकी वेबसाइट की रैंकिंग को प्रभावित करते हैं, ताकि हमारे ब्लॉग का आर्टिकल या वेबसाइट, गूगल के पहले पेज की पहली पोजीशन पर आ जाये |

On page SEO के विभिन्न फेक्टर (तरीके) हैं, और इन सब तरीकों को समझना आपके लिए जरुरी है, यानि इनमे से केवल दो ज या चार तरीके सीखकर- जानकर ही आप SEO में महारत हासिल नहीं कर सकते, बल्कि आपको सभी तरीकों को विस्तार से सीखकर उन्हें अपने हिसाब से इस्तेमाल करना होगा तभी आपकी वेबसाइट या ब्लॉग गूगल पर रैंक कर सकेगा |

On page SEO के विभिन्न फैक्टर निम्नलिखित हैं :-

  1. बेहतरीन टाइटल – Title Tags

    अपनी साइट पर प्रत्येक पोस्ट के शीर्षक टैग ( Title Tag ) में अपने मेन कीवर्ड को डालें जिसपर आप अपनी पोस्ट को । क एक बढ़िया टाइटल देखकर यूजर को उसे क्लीक करने का और पढने का मन करता है | एक अच्छा टाइटल लिखने के बहुत से अलग अलग तरीके हैं, आपको इन सबके बारे में पढना चाहिए

  2. हैडिंग टैग का इस्तेमाल – Headings Tag (H1)

    शीर्षक आमतौर पर किसी भी पोस्ट की मुख्य लाइन होती हैं, और इस कारण से, सर्च इंजन इसे आपके पोस्ट के बाकि कंटेंट की तुलना में थोड़ा अधिक महत्त्व देते हैं।

    प्रत्येक वेब पेज की हेडिंग में अपने टारगेट कीवर्ड को रखना एक अच्छी प्रक्रिया है, ताकि सर्च इंजन आपके पोस्ट के उद्देश्य को समझकर इसे अपने पहले पेज पर दिखाए

  3. पोस्ट का URL – URL structure

    यदि संभव हो तो URL में अपना मुख्य कीवर्ड डालें, और अपने URL को जितना हो सके छोटा और To the Point रखें | (Use Google Keyword Planner for this)

  4. Image का इस्तेमाल – Alt text for images

    जरुरत के मुताबिक पोस्ट में फोटो का इस्तेमाल करें जो पोस्ट के अनुसार ही हों और इसमें Alt Tag का इस्तेमाल जरुर करें ताकि गूगल इमेज में भी आपकी पोस्ट की फोटो रैंक कर सके |

  5. फास्ट पेज स्पीड – page load speed

    आपके वेबसाइट की स्पीड जितनी अधिक होगी उतना ही उसके SEO को बेहतर माना जायेगा, और आपकी वेबसाइट का Bounce Rate भी कम होगा |

  6. बेहतरीन पोस्ट कंटेंट – Page content

    ये सबसे महत्वपूर्ण है, लोग गूगल पर सर्च क्यों करते हैं, क्योंकि उनकी कोई परेशानी है जिसे वे दूर करना चाहते हैं, जितना आप यूजर की परेशानी को हल करने वाला बेहतरीन कंटेंट बनायेंगे, उतना ही आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पोपुलर होगा और गूगल उसकी रैंकिंग में सुधार करता जायेगा |

    याद रखें, आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का मुख्य उद्देश्य पैसा कमाना ना होकर लोगों के सवाल और उनकी परेशानियों को हल करना ही होना चाहिए

  7. इंटरनल लिंकिंग – Internal Linking

    आपकी हर पोस्ट के अन्दर उस पोस्ट से मिलती जुलती पोस्ट का लिंक डालें, और जिस विषय को लेकर आपने ब्लॉग या पोस्ट लिखी है उसके बारे में इन्टरनेट पर मोजूद बेहतरीन पोस्ट या विडियो का लिंक भी डालें ताकि यूजर को अधिक से अधिक जानकारी मिले |

  8. ब्लॉग डिजाईन – Readability

    किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग का डिजाईन एकदम सिंपल होना चाहिए जिससे यूजर को पढने में आसानी हो और इसके साथ बीच बीच में ग्राफ, फोटो, विडियो आदि का इस्तेमाल करना चाहिए ताकि पोस्ट ज इंटरेस्टिंग बने |

  9. मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट : Responsive Website

    अगर वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली (Mobile Friendly Website) होगी तो यूजर की संख्या बढ़ेगी क्यूंकि आजकल डेस्कटॉप से ज्यादा लोग मोबाइल पर इन्टरनेट का इस्तेमाल करते हैं | एक मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट को सर्च इंजन प्राथमिकता देता है


  10. Keyword Density

    Keyword Density पोस्ट की कुल संख्या के शब्दों और उस पेज पर मौजूद कीवर्ड की संख्या का प्रतिशत है। इसलिए यदि 100 शब्दों के पोस्ट में आप 10 बार अपने कीवर्ड का उपयोग कर रहे हैं, तो आपकी Keyword Density 10% होगी । हालाँकि कई लोग कुछ अलग सूत्र का इस्तेमाल करके भी Keyword Density की गणना करते हैं |

Off page SEO in Hindi :

SEO के इस तरीके में हम प्रक्रिया अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के बाहर करते हैं इसलिए इसे Off Page SEO या Off Site SEO कहा जाता है,

इन सभी तरीकों में हमारा मुख्य उद्देश्य अपनी वेबसाइट को सर्च इंजन के आलावा अन्य जगह पर भी पोपुलर करना है, जैसे सोशल वेबसाइट, गेस्ट पोस्टिंग (Guest Posting in SEO) करके, Forum Posting sites , Blog Commenting sites, Search Engine Submission, और सबसे महत्वपूर्ण Backlink बनाना, आदि विभिन्न तरीके अपनाकर अपनी वेबसाइट को पोपुलर करके खूब ट्रैफिक अर्जित कर सकते हैं |

1. Social Media Sharing : सोशल मीडिया पर शेयर करें

अपने ब्लॉग और पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करने का फायदा ये है की इससे लोगों को आपके पोस्ट के बारे में जानकारी मिलती है और आपकी वेबसाइट को ट्रैफिक, अगर लोगों को आपके द्वारा शेयर की गई जानकारी पसंद आती है तो वो भी इसे आगे शेयर करते हैं जिससे इसका प्रभाव बढ़ता चला जाता है और आपको अधिक ट्रैफिक मिलता है

मुख्य सोशल मीडिया वेबसाइट जैसे फेसबुक, ट्विटर, instagram, लिंक्डइन आदि पर अपनी पोस्ट शेयर करनी चाहिए |

2. Guest Posting : गेस्ट पोस्टिंग

गेस्ट पोस्टिंग का मतलब है किसी और वेबसाइट पर अपना लेख या पोस्ट लिखना, इससे ये फायदा मिलता है की आप इस लेख में अपना नाम और वेबसाइट का नाम दे सकते हैं और इस लेख से सम्बंधित पोस्ट अगर आपकी वेबसाइट पर है तो उसका लिंक भी दे सकते हैं जिससे आपको एक बढ़िया Backlink मिलता है,

“Backlink किसी वेबसाइट के SEO का सबसे मुख्य आधार है”

3. Search Engine Submission : सर्च इंजन पर वेबसाइट को सबमिट करना

कोई भी सर्च इंजन हमारी वेबसाइट के लिंक को तभी दिखायेगा जब उसे इन्टरनेट पर हमारी मोजुदगी का एहसास होगा, इसके लिए हमें अपनी वेबसाइट को सर्च इंजन पर इंडेक्स करना होगा (Indexing in Search Engine)

4. Backlink : अन्य वेबसाइट से लिंक लेना

Backlink का मतलब है कि इन्टरनेट पर कितनी वेबसाइट आपकी वेबसाइट को रेफेर करती हैं और कितनी वेबसाइट ने आपको Do-Follow और No-Follow लिंक दिया हुआ है

Off Page SEO में में सबसे क महत्वपूर्ण है Backlink , जितने ज्यादा Backlink एक वेबसाइट के होंगे, उस वेबसाइट की सर्च इंजन में मान्यता उतनी ही ज्यादा होगी,


On Page SEO और Off Page SEO के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए : – यहाँ क्लीक करें

2 thoughts on “SEO in Hindi – latest information 2020 that Works !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *